EV Yatra App/Portal: इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों के लिए राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने शुरू की ईवी यात्रा ऐप 2023

EV Yatra App/Portal: राष्ट्रपति दोपति मुर्मू द्वारा शुरू की गई ईवी यात्रा ऐप के जरिए इलेक्ट्रिक वाहन मालिक नेविगेशन का उपयोग करके अपने नजदीक पब्लिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का पता कर सकेगा। चलिए जानते हैं EV Yatra App के बारे में।

EV Yatra App/Portal
EV Yatra Mobile App/Portal

EV Yatra App/Portal: दोस्तों जैसे कि हम सब को अच्छी तरह से मालूम है कि कोरोनावायरस संक्रमण के बाद दुनिया के सभी देश इलेक्ट्रिक वाहन को अपनाने की तैयारी में जुड़ चुके हैं। ऐसे में हमारे भारत देश में भी इलेक्ट्रिक वाहन के लिए केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी की योजना भी शुरू की जा चुकी है। क्योंकि भारत सरकार का मानना है कि अगर आज हम पर्यावरण को सुरक्षित करते हैं तो आने वाली पीढ़ी के लिए यह बड़ा अवसर माना जाएगा।

इसी के चलते इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने हेतु राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने 14 दिसंबर 2022 यानी कि बुधवार के दिन EV Yatra App/Portal का शुभारंभ किया। जिसकी मदद से इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों को लाभ प्रदान किया जाएगा। तो आइए जानते हैं कि ईवी यात्रा मोबाइल ऐप के जरिए इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों को किस प्रकार से फायदा होगा।

EV Yatra App और Portal से इलेक्ट्रिक वाहन चालकों को क्या फायदा होगा?

दोस्तों राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू द्वारा 14 दिसंबर 2022 बुधवार के दिन विज्ञान भवन, न्यू दिल्ली से ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल को लांच किया गया। प्रेसिडेंट द्रोपदी मुर्मू ने बताया कि ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों को नेविगेशन सिस्टम प्रदान करेगी यानी कि गाड़ी चलाते वक्त वह इस मोबाइल ऐप या फिर पोर्टल के जरिए अपने नजदीक पब्लिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के बारे में पता कर सकेंगे। इसकी वजह से उनके समय की बचत हो सकेगी। ईवी यात्रा मोबाइल ऐप को आप एंड्राइड गूगल प्ले स्टोर या फिर आईओएस प्ले स्टोर पर से भी डाउनलोड कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें: यूपी सरकार ने ओबीसी छात्रों के लिए शुरू की मुख्यमंत्री पुरस्कार योजना

ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल किसने तैयार किया?

दोस्तों यह ईवी मोबाइल एप और पोर्टल इलेक्ट्रिक वाहन चालकों को अपने नजदीक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के बारे में जानकारी प्रदान करेंगी जिन्हें ब्यूरो आफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) द्वारा विकसित किया गया है। इतना ही नहीं बल्कि ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (बीईई) द्वारा एक वेबसाइट भी विकसित की गई है जिनका कार्य केंद्रीय और राज्य स्तर पर वाहनों को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों की जानकारी को प्रसार करना है। ताकि भारत में ज्यादा से ज्यादा लोग इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग करें और पर्यावरण को सुरक्षित रखने में अपनी सहायता दे।

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने पुरस्कार से सम्मानित किया

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 14 दिसंबर 2022 का दिन राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस (National Energy Conservation Day) के लिए मनाया जाता है। इस मौके पर प्रेसिडेंट द्रौपदी मुर्मू ने बताया कि राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के विषय पर तकरीबन 80000 बच्चों ने चित्र प्रतिस्पर्धा में भाग लिया था। जिनमें विजेता बच्चों को पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। आगे में द्रोपदी मुर्मू ने बताते हुए कहा कि हम सभी को ऊर्जा संरक्षण के लिए कार्य करना चाहिए। ताकि हम आने वाली पीढ़ी को अच्छा पर्यावरण देने में कामयाब हो सके।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र जलयुक्त शिवार योजना 2.0

ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल परोक्ष रूप से प्रदूषण को रोकने में कारगर साबित होगा

दोस्तों जितनी टेक्नोलॉजी का उपयोग करके हम इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए सुविधा खड़ी करेंगे उतने ही लोग इलेक्ट्रिक वाहन का उपयोग करने के लिए खड़े होंगे। देश में जितने ही इलेक्ट्रिक वाहन बढ़ेंगे उतना ही प्रदूषण को कम किया जा सकेगा। इसीलिए ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों को यह सुविधा प्रदान करेगी की उन्हें सबसे नजदीक पब्लिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के बारे में पता चल सके।

आगे में द्रौपदी मुर्मू ने बताया कि आज हम देख रहे हैं कि बड़े-बड़े महानगरों में छोटे बच्चों को फेफड़े से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। अगर हम ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग करेंगे तो आने वाली पीढ़ी में बच्चों को खुले वातावरण में सांस लेने में दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। और अच्छी सांस लेना मानव अधिकार है इसलिए हम सबको पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए ऊर्जा संरक्षण पर ध्यान देना जरूरी है।

द्रोपदी मुर्मू का मुख्य संदेश

ईवी यात्रा मोबाइल ऐप और पोर्टल को लांच करते वक्त प्रेसिडेंट द्रोपदी मुर्मू ने भारत की महान कवित्री महादेवी वर्मा की पंक्ति बताते हुए कहा कि “आंधी आए जोर शोर से, डाली टूटे है जोक और से, उड़ा घोंसला अंडे फूटे, किससे दुख की बात कहेगी, अब यह चिड़िया कहां रहेगी”। इस संदेश के माध्यम से द्रोपदी मुर्मू ने बताया कि भारत का हर देशवासी पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए कार्य करें। हमें सदैव प्रकृति के अनुकूल कार्य करना होगा ना कि प्रतिकूल।

इसे भी पढ़ें: RIPA Yojana छत्तीसगढ़

EV Yatra App/Portal: के बारे में हमने आपको संपूर्ण जानकारी सबसे आसान भाषा में प्रदान की अगर आप इसी तरह अन्य सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया करके हमारी खेती नी दुनिया वेबसाइट के होम पेज पर चले जाएंगे जहां पर आपको स्टेट वाइज सरकारी योजनाओं की सूची प्राप्त होगी। अब तक हमसे जुड़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद और आगे भी जुड़े रहने के लिए आप हमारी टेलीग्राम चैनल या फिर व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हो।

Join Telegram Channel

अगर आपको हमारा यह लेख “EV Yatra App/Portal” अच्छा लगता है तो आप इसे अपने दोस्तों एवं पहचान वालों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आप ऐसी चीजे शेयर करेंगे तो यह दूसरों के मन में आपके प्रति स्नेह जरूर बढ़ा सकता है।

Leave a Comment

Join Whatsapp Group