राइट टू हेल्थ बिल क्या है? | Right to Health Bill Rajasthan in Hindi 2023

( Right to Health Bill Rajasthan in Hindi 2023 | Right to Health Bill Kya hai | राजस्थान में राइट टू हेल्थ बिल | Right to Health Bill Rajasthan Pdf | राइट टू हेल्थ बिल से आम लोगों को क्या फायदा होगा? | RTH Bill का क्यूं हो रहा विरोध? | rth bill kya h)

Right to Health Bill Rajasthan in Hindi 2023: दोस्तों जब वर्ष 2018 में अशोक गहलोत की सरकार सत्ता में आयी तब उन्होंने चुनावों में यह वादा किया था कि हम राइट टू हेल्थ बिल लेकर आएंगे। अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2022-23 के दौरान Right to Health Bill Rajasthan को लाने के प्रयास शुरू किए। ताकि इस बिल के कारण प्रदेश के सभी लोगों को सबसे बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जाए। किंतु RTH (राइट टू हेल्थ बिल) आने से राजस्थान राज्य के निजी अस्पतालों के डॉक्टर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

आज खेती नी दुनिया वेबसाइट के माध्यम से हम आपको राजस्थान राइट टू हेल्थ बिल के बारे में ए टू जेड जानकारी देंगे। जैसे कि राइट टू हेल्थ बिल राजस्थान क्या है?, इस बिल से राजस्थान के लोगों को क्या फायदा होगा? इसके अलावा सभी डॉक्टर इस बिल का विरोध क्यों कर रहे हैं? आदि यह सभी जानकारी इस लेख में दी गई है किंतु यह जानकारी आपको जानने के लिए लेख को अंत तक पढ़ना आवश्यक है।

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now
Right to Health Bill Rajasthan in Hindi
RTH Bill

राइट टू हेल्थ बिल क्या है? (Right to Health Bill Rajasthan in Hindi)

Right to Health Bill Rajasthan सरकार ने सितंबर 2022 के विधानसभा सत्र में पेश किया था। किंतु इस बिल में यह बताया गया है कि किसी भी नागरिक को आपातकालीन स्थिति में मुफ्त इलाज प्रदान करने की जिम्मेदारी निजी अस्पताल के डॉक्टरों की भी है। जिसके कारण राज्य में डॉक्टरों ने भारी विरोध किया था जिस वजह से इस राइट टू हेल्थ बिल को आगे नहीं बढ़ाया जा सका। किंतु हाल ही में 21 मार्च 2023 के दिन विरोध प्रदर्शन को नजरअंदाज करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा सत्र में Right to Health Bill Rajasthan (RTH) को पारित कर दिया है।

Right to Health Bill Pass होने से क्या होगा?

जैसे कि हमने आपको पहले ही बताया कि 21 मार्च के दिन विधानसभा सत्र में राइट टू हेल्थ बिल को पारित कर दिया गया है। यह बिल पारित होने से अब राजस्थान राज्य का कोई भी आम नागरिक इमरजेंसी की परिस्थिति में किसी भी निजी अस्पताल में अपना इलाज फ्री में करवा सकेगा। असल में Right to Health Bill Rajasthan (rth bill) यह कहता है की अगर मरीज को इलाज की इमरजेंसी है और उनके पास पैसों का इंतजाम नहीं है तब भी किसी भी निजी अस्पताल को मरीज का इलाज कराने के लिए मना नहीं कहना होगा। ऐसी परिस्थिति में मरीज का जो भी उपचार का खर्च होगा उसका वह राजस्थान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा।

Quick Look – राइट टू हेल्थ बिल राजस्थान 2023

बिल का नामRight to Health Bill (RTH)
बिल लाया जा रहा हैराजस्थान राज्य सरकार द्वारा
बिल पारित किया गया21 मार्च, 2023 के दिन
RTHB का उद्देश्यइमरजेंसी की स्थिति में निजी अस्पतालों में भी निशुल्क इलाज उपलब्ध करवाना
लाभार्थीराजस्थान के नागरिक
विभागहेल्थ डिपार्टमेंट, राजस्थान
टेलीग्राम चैनलयहां क्लिक करें

⚠️ ध्यान दें: अगर आप भविष्य में कोई भी सरकारी योजना से जुड़ी A टू Z जानकारी सबसे पहले और रेगुलर पाना चाहते हो तो कृपया करके हमारी टेलीग्राम चैनल को जरूर से ज्वाइन करें। (KhetiNiDuniya01).

बाल गोपाल योजना

Right to Health Bill Rajasthan का इसलिए हो रहा है विरोध

दोस्तों राइट टू हेल्थ बिल राजस्थान का विरोध इसलिए निजी अस्पताल के डॉक्टर कर रहे हैं क्योंकि इस दल में यह बात कही गई है कि अगर कोई भी मरीज इमरजेंसी के लिए आता है तब निजी अस्पताल को उसका इलाज बिना पैसों से यानी कि निशुल्क करवाना होगा। उसके इलाज का वहन राजस्थान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा। ऐसी परिस्थिति में निजी अस्पताल बंधित हो जाएगा। इसके अलावा इस बिल में यह भी नहीं बताया गया कि किस परिस्थिति को इमरजेंसी के रूप में माना जाए। डॉक्टरों का यह कहना है कि ऐसी परिस्थिति में तो हर कोई इमरजेंसी की बात करके इलाज करवा सकता है।

Rajasthan Ration Card List

आपको बता दें कि निजी अस्पताल के डॉक्टर राइट टू हेल्थ (RTH Bill) पारित होने से 1 दिन पहले यानी कि 20 मार्च के दिन सड़क पर विरोध करने के लिए उतरे थे। डॉक्टरों का कहना है कि गर्भवती महिला को डिलीवरी भी निशुल्क कराई जाए। राजस्थान राज्य सरकार का यह कहना है कि इस बिल का संचालन करने के लिए तहसील स्तर पर एक कमेटी का गठन किया जाएगा जो निगरानी करेगा। जिसका प्रतिनिधित्व तहसील के जनप्रतिनिधि करेंगे। इसके विरोध में डॉक्टरों का यह कहना है कि जिस व्यक्ति को डॉक्टर लाइन का अनुभव नहीं है वह कैसे पता लगा सकेगा कि निजी अस्पतालों में फ्री इलाज की क्वालिटी कैसी है।

Right to Health Bill Rajasthan में मिलेगी ₹5000 प्रोत्साहन राशि

दोस्तों अगर सड़क पर किसी एक्सीडेंट की वजह से या फिर अन्य कारणों की वजह से राज्य का कोई भी नागरिक घायल हो चुका है तो जो भी दूसरे नागरिक उन्हें जल्द से जल्द नजदीकी अस्पताल में पहुंचाएंगे उन्हें ₹5000 की प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी। असल में राजस्थान राज्य सरकार की योजना जिसका नाम मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना है। इस योजना को राइट टू हेल्थ बिल के साथ जोड़ा जाएगा।

राइट टो हेल्थ बिल को लाकर राजस्थान बना देश का पहला राज्य

जी हां दोस्तों, Right to Health Bill के तहत आम नागरिकों के लाभ के बारे में बात की गई है। ताकि उन्हें गुणवत्ता युक्त स्वास्थ्य सेवाए बिना पैसे की चिंता किए प्रदान की जा सके। इस तरह का बिल लाने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य बन चुका है।

PM Mitra Yojana

राइट टू हेल्थ बिल (RTH) से होने वाले लाभ

  • Right to Health Bill Rajasthan में लागू होने से निजी अस्पतालों को भी इमरजेंसी की स्थिति में किसी भी नागरिक का इलाज निशुल्क करना होगा।
  • अगर राज्य में किसी भी तरह की महामारी फैलती है तब निजी अस्पतालों को मेडिकल ट्रीटमेंट, नर्सिंग, डायग्नोसिस आदि टेस्ट निशुल्क करवाने होंगे।
  • राइट टू हेल्थ बिल लागू होने के बाद मरीज बिना एडवांस पेमेंट किए निजी अस्पतालों में अपना इलाज करवा सकता है।
  • इस बिल के तहत पहले से ही इलाज के दौरान कीमोथेरेपी के दौरान मानव गरिमा और गोपनीयता का ख्याल रखा जाएगा।
  • अगर मरीज महिला है तो उनके शारीरिक टेस्ट के दौरान महिला डॉक्टर या फिर नर्स को उपस्थित रहना होगा।
  • रोड एक्सीडेंट के कारण घायल हुए मरीजों को फ्री ट्रांसपोर्टेशन की सर्विस के साथ-साथ फ्री ट्रीटमेंट और फ्री इंस्योरेंस भी दिया जाएगा।
  • इमरजेंसी के दौरान प्रति होने वाले मरीजों की खाने पीने की व्यवस्था रखनी अनिवार्य होगी।
  • शिकायत दर्ज कराने के लिए जैसे हमने आपको पहले बताया उसी प्रकार तहसील स्तर पर कमेटी का गठन किया जाएगा।
  • आपके द्वारा की गई शिकायत का जवाब कमेटी को 24 घंटे के अंदर देना होगा।

Prajwala Challenge Kya Hai

इस बिल को लेकर क्या है सरकार के विचार? (rth bill kya h)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया के सामने अपना साफ मंसूबा दिखाते वक्त बताया कि डॉक्टरों को इस प्रकार सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन प्रारंभ नहीं करना चाहिए। क्योंकि राइट टू हेल्थ बिल राजस्थान के सभी नागरिक और डॉक्टरों के हित में ही बनाया गया है। आपको किसी भी समस्या हो रही है तो उनका निवारण भी बैठक करके सुलझाना चाहिए।

Right to Health Bill Rajasthan 2023: के बारे में हमने आपको सभी जानकारी सबसे आसान भाषा में प्रदान की। अगर आप इसी तरह आसान भाषा में सरकारी योजनाओं के बारे में पढ़ना चाहते हैं तो कृपया करके आप खेती नी दुनिया वेबसाइट के होम पेज पर चले जाए। जहां पर आपको Govt Yojana सेक्शन में सभी सरकारी योजनाओं की सूची स्टेट वाइज प्राप्त होगी। निरंतर अपडेट पाने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप या फिर टेलीग्राम चैनल को जरूर जॉइन करें। क्योंकि सबसे पहली अपडेट उसी प्लेटफार्म पर प्रदान की जाती है।

Right to Health Bill Rajasthan Pdf

होम पेजयहां क्लिक करें
Right to Health Bill Rajasthan Pdfयहां क्लिक करें
राजस्थान की सरकारी योजनाएंयहां क्लिक करें

अगर आपको हमारा यह लेख “RTH – Right to Health Rajasthan 2023” अच्छा लगता है तो आप इसे अपने दोस्तों एवं पहचान वालों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आप ऐसी चीजे शेयर करेंगे तो यह दूसरों के मन में आपके प्रति स्नेह जरूर बढ़ा सकता है।

दुसरे रीडर्स के मनपसंद लेख:

FREE TIP: अगर आप यह लेख फिर से पढ़ना चाहते हो तो आप google में यह keyword सर्च करें। 👉 “Right to Health Bill by Pranav Patel” यह keyword सर्च करते ही आपके सामने KhetiNiDuniya.in वेबसाईट का यही लेख खुल जाएगा। आभार।

FAQs: Right to Health Bill Rajasthan 2023

प्रश्न: Right to Health Bill Kya hai?

उत्तर: दोस्तों इस बिल (rth bill kya h) को राजस्थान राज्य सरकार ने विधानसभा सत्र में 21 मार्च के दिन पारित कर दिया है। इस बिल के तहत अगर राजस्थान के कोई भी नागरिक को इमरजेंसी के दौरान बिना पैसों का इंतजाम किए राज्य की निजी अस्पतालों को भी इलाज प्रदान करना होगा। इस बिल के अधिक जानकारी के लिए इस लेख को जरूर पढ़ें।

प्रश्न: राइट टू हेल्थ बिल कब पारित किया गया?

उत्तर: इस बिल को 21 मार्च, 2023 के दिन अशोक गहलोत सरकार ने पारित किया।

प्रश्न: Right to Health Bill किसके लिए बनाया गया है?

उत्तर: इस बिल को राजस्थान की सामान्य जनता को किसी भी रुकावट को नजर अंदाज कर इलाज प्रदान करने के लिए बनाया गया है।

प्रश्न: राइट टू हेल्थ बिल लाने वाला पहला राज्य कोन है?

उत्तर: राजस्थान.

Leave a Comment

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now